Business kitne prakar ke hote hain | बिज़नेस कितने प्रकार के होते है?

बिजनेस करना एक बहुत बेहतरीन कला है और इस कला को सीखने के लिए आपको समय देना होगा यह कला सिर्फ किताबों को पढ़कर नहीं सीखी जाती बल्कि इसकेलिए आपको कई कामयाब बिजनेसमैन को फॉलो करना होगा और उनके गुरु को सीखना होगा। या फिर आप मार्केट में रिसर्च करके भी अपने बिजनेस को शुरू कर सकते हो।

हर एक व्यक्ति को बिजनेस अपने इंटरेस्ट और सामर्थ्य से ही करना चाहिए। इसलिए आज मैं आपको यह बताऊंगा कि Business kitne prakar ke hote hain जिसके आधार पर आप यह जान लेंगे कि कौन सी बिजनेस में आप सक्षम हो और आपको कौन सा बिजनेस शुरू करना चाहिए।

मुख्य रूप से अगर हम देखें तो बिजनेस 5 प्रकार के होते हैं।

  1. मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस
  2. सर्विस बिजनेस
  3. डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस
  4. फ्रेंचाइजी बिजनेस
  5. रिटेल बिजनेस

बिजनेस के प्रकार – Types Of Business

हर एक प्रकार के बिजनेस से आपको फायदा तथा नुकसान हो सकता है। प्रतेक बिजनेस के प्रकार को नीचे विस्तार में समझाया गया है।

मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस

मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस उसे कहते हैं जिसमें आपको किसी प्रोडक्ट को मैन का चेक करके देना होता है, रॉ मटेरियल के हेल्प से। मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए आपको कुछ सामान जैसे मशीन और एक जगह की जरूरत होगी।

किसी भी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस में हम दो प्रकार से सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

  • आप ऐसे प्रोडक्ट को मैन्युफैक्चरर करके मार्केट में लॉन्च करें जिसे आज से पहले किसी ने ना किया हो और उस चीज से लोगों को किसी प्रकार की भी मदद मिल सके।
  • अथवा, आप किसी प्रोडक्ट की क्वालिटी और फीचर्स बढ़ाकर अपने प्रोडक्ट को मार्केट में लॉन्च कर सकते हो।

हर एक बिजनेस को सफल बनाने में मार्केटिंग का एक बहुत बड़ा हाथ होता है जब तक आप प्रोडक्ट की सही मार्केटिंग नहीं करोगे तब तक आपकी सेल्स में बढ़ती ऊंचाई नहीं आएंगी।

मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस के कई ऐसे उदाहरण।

जैसे मैंने आपको पहले बोला था कि हर एक प्रकार के बिजनेस के फायदे हैं तो नुकसान भी, वैसे ही अब हम देखेंगे मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस के फायदे तथा नुकसान।

मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस के फायदे

  • कस्टमर की डिमांड के अनुसार प्रोडक्ट बना सकते हैं।
  • प्रोडक्ट की कैसी क्वालिटी होगी यह आपके कंट्रोल में होता है।
  • प्रत्येक प्रोडक्ट पे ज्यादा से ज्यादा मार्जिन कमाने का मौका। 

मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस के नुकसान

  • मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए आपको जमीन तथा मकान की जरूरत होगी जहां से आप अपने प्रोडक्ट को मैन्युफैक्चर करेंगे।
  • शुरुआती समय में इन्वेस्टमेंट करनी होगी मशीन और रॉ मटेरियल खरीदने के लिए।

सर्विस बिजनेस

सर्विस बिजनेस एक वैसा बिजनेस है जिसमें आप किसी भी कस्टमर की सेवा करके पैसे कमा सकते हैं। जैसे, रेस्टोरेंट, मोबाइल नेटवर्क, होटल, सलोन, इत्यादि।

ऐसे कई बिजनेसेस है जो सर्विसेज के अंदर आते हैं जैसे;

  • होटल
  • टिफिन सर्विस
  • सलोन
  • कार सर्विस
  • डिजिटल सर्विस
  • ट्रांसपोर्ट सर्विस
  • मकान बनाना
  • इत्यादि..

सर्विस बिजनेस के फायदे

  • सर्विस बिजनेस में आपको किसी भी प्रकार की प्रोडक्ट नहीं बनानी होती बल्कि पहले से ही उपलब्ध प्रोडक्ट से ग्राहक की सहायता करनी होती है।
  • यह बिजनेस करने के लिए आपको किसी भी प्रकार के काम करना आना चाहिए जिससे आप आगे सर्विस में बदलेंगे।

सर्विस बिजनेस के नुकसान

  • आज के इस इतने बड़े मार्केट में सर्विस बिजनेस मैं बहुत कंपटीशन है पर अगर आप अपने सर्विसेज अच्छे प्राइस पर किसी भी कस्टमर को देते हो तो आपका ग्रो होना मुश्किल नहीं है।

डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस

इस बिजनेस मैं आपको मैन्युफैक्चरिंग कंपनी से प्रोडक्ट लेकर रिटेल बिजनेस के दुकानों तक पहुंचाना होता है।

हर एक मैन्युफैक्चरिंग कंपनी को डिस्ट्रीब्यूटर की जरूरत होती है। अगर आपको डिस्ट्रीब्यूटर बिजनेस में सफलता प्राप्त करनी है तो आपको ऐसे प्रोडक्ट खोजने होंगे जो बहुत काम के हैं पर वह आपके क्षेत्र में नहीं मिलते आप उसे दूसरी जगह से खरीद कर अपने क्षेत्र में भेज सकते हैं।

यह भी पढ़े: कपड़े के डाइपर बनाने का बिजनेस कैसे करें?

डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस के फायदे

  • विदेशी कंपनियों से भी सामान मंगवा कर अपने क्षेत्र में डिसटीब्यूट कर सकते हैं।
  • इस बिजनेस में बस आपको रिटेलर दुकानों के साथ डील करना होता है अपने प्रोडक्ट डिसटीब्यूट करने के लिए।

डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस के नुकसान

  • इस बिजनेस में आपको तभी फायदा होगा जब आप कई सारे रिटेलर दुकानों को अपने प्रोडक्ट डिसटीब्यूटर करेंगे।

फ्रेंचाइजी बिजनेस

इस बिजनेस में आपको एक बहुत अच्छा फायदा है क्योंकि आपको बड़ी बड़ी कंपनी के नाम वाले दुकान या स्टोर खोलने का मौका मिलता है बिना किसी कॉपीराइट के, जिसे हम उस कंपनी की फ्रेंचाइजी कहते हैं।

मार्केट में बहुत ऐसी कंपनी है जो आपको अपनी फ्रेंचाइजी देने के लिए हमेशा तैयार रहती है जैसे;

  • Mcdonalds
  • Swiggy 
  • KFC
  • MBA Chai Wala
  • Chai Sutta Bar
  • इत्यादि…

यह भी पढ़े: Amazon Franchise कैसे ले?

फ्रेंचाइजी बिजनेस के फायदे

  • आप किसी बड़े ब्रैंड के फ्रेंचाइजी लेकर अपना दुकान खोल सकते हैं जिसका पहले से ही मार्केट में बड़ा नाम है।
  • मार्केटिंग करने की जरूरत नहीं है क्योंकि जिसकी आप फ्रेंचाइजी यूज कर रहे हैं वह पहले से ही मार्केट में अपनी पकड़ बना चुका है।

फ्रेंचाइजी बिजनेस के नुकसान

  • किसी भी बड़ी कंपनी की फ्रेंचाइजी लेने के लिए शुरुआत में आपको काफी ज्यादा इन्वेस्टमेंट करना होगा।
  • आपके विस्तार में अगर वो फ्रेचाइज किसी के पास है तो आपको वो नही मिलेगी।

रिटेल बिजनेस

रिटेल बिजनेस में आपको बस डिस्ट्रीब्यूटर से सामान खरीद कर ग्राहक को उनकी डिमांड के अनुसार बेचना होता है।

आपको वह ही प्रोडक्ट रखना होता है जिसकी ग्राहक डिमांड करता है। अगर आपको कोई भी प्रोडक्ट रखे रखे खराब या एक्सपायर हो जाता है तो फिर आप उसे डायरेक्ट मैन्युफैक्चरर से रिटर्न भी करवा सकते हो।

रिटेल बिजनेस के फायदे

  • ग्राहक के जरूरत के अनुसार प्रोडक्ट के स्टॉक रखना।
  • विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट भेज सकते हैं।

रिटेल बिजनेस के नुकसान

  • इस बिजनेस में आपको रोजाना अपने दुकान खोलनी होगी क्योंकि, अगर आप अपनी दुकान नहीं खोलोगे तो प्रोडक्ट भी नहीं बिकेगा।

आखरी शब्द:

दोस्तो यह आर्टिकल में Business kitne prakar ke hote hain (Types of Business) उसके बारे में विस्तार से जानकारी देने की कोशिश की है तो उम्मीद है बिजनेस के कितने प्रकार होते है उसके बारे में जरूरी जानकारी मिली होगी यदि आपको कोई सवाल है तो आप नीचे हमे कमेंट करके बता सकते है। यहां तक पढ़ने के लिए धन्यवाद।

(FAQ) Business Kitne prakar ke hote hain उसके बारे में कुछ सवाल

बिजनेस कितने प्रकार के होते हैं?

बिज़नेस के मुख्य 5 प्रकार है। मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस,सर्विस बिजनेस,डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस,फ्रेंचाइजी बिजनेस,रिटेल बिजनेस

बिजनेस का सबसे बढ़िया प्रकार कौनसा है?

बिजनेस के सब प्रकार बढ़िया है आपको अपने हिसाब से बिजनेस कौनसा करना है यह निश्चित करना होगा।

बिज़नेस कैसे शुरू करे?

कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले उसकी डिमांड,सप्लाई और पूरा बिजनेस प्लान देखले और अपने निवेश के अनुसार आप कोई भी बिजनेस शुरू कर सकते है।

2 thoughts on “Business kitne prakar ke hote hain | बिज़नेस कितने प्रकार के होते है?”

Leave a Comment